Latest Posts

जानिए कैसे आया क्रीपटों बाजार (cryptocurrency ka history)

cryptocurrency ka history – आज के जमाने में क्रिप्टो करेंसी का महत्व बहुत ही ज्यादा बढ़ गया है ज्यादातर लोग क्रिप्टो करेंसी में अपने पैसे इन्वेस्ट करना पसंद कर रहे हैं और उनसे फायदा कमाने की सोच रख रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में हमने देखा कि लोग कैसे क्रिप्टो करेंसी से पैसे कमा रहे हैं और ज्यादातर लोगों की कोशिश यही रह रही है कि वह अपने पैसे क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करें ताकि उन्हें कम समय में ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो सके। अगर आप की भी सोच ऐसी है और आप ही क्रिप्टो करेंसी में पैसे इन्वेस्ट करना चाहते हैं और कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाना चाहते हैं तो आपके दिमाग में एक प्रश्न चल रहा होगा वह प्रश्न यह है कि cryptocurrency ka history क्या है। 

यह प्रश्न आपके दिमाग में इसलिए आया होगा क्योंकि किसी भी चीज में पैसे इन्वेस्ट करने से पहले उस चीज के बारे में अच्छी तरह जान लेनी चाहिए ताकि आप यह जान सके कि क्या सच में यह आपके लिए फायदेमंद है या फिर नुकसानदेह है। अगर आप क्रिप्टो करेंसी की इतिहास के बारे में जानना चाहते हैं कि यह कब कैसे शुरू हुआ तो आप इस वक्त बिल्कुल सही जगह पर आए हैं। आप इस आर्टिकल को अगर अंत तक पढ़ते हैं तो आपको क्रिप्टो करेंसी से संबंधित सारी जानकारी विस्तार पूर्वक समझ में आ जाएगी और आप अच्छी तरीके से जान पाएंगे कि क्रिप्टो करेंसी का इतिहास क्या है। 

cryptocurrency ka history

अगर आप cryptocurrency ka history अच्छे से और विस्तार पूर्वक जानना चाहते हैं और समझना चाहते हैं कि इसकी शुरुआत कैसे हुई और किस व्यक्ति ने इसकी शुरुआत की। तो आइए हम आपको नीचे वाली पैराग्राफ में बहुत ही अच्छे से और विस्तार पूर्वक यह समझाने का प्रयत्न करते हैं कि क्रिप्टो करेंसी की शुरुआत कब हुई किसने की और क्यों की। 

सबसे पहले 1983 में अमेरिका के एक क्रिप्टोग्राफर जिनका नाम डेविड चाउम था उन्होंने एक अज्ञात क्रिप्टोग्राफ बनाया। उन्होंने यह कल्पना की कि भविष्य में एक इलेक्ट्रॉनिक करेंसी आ सकती है और उसका इस्तेमाल पूरी दुनिया के लोग कर सकते हैं। 1995 में उन्होंने इस कल्पना को सही साबित करते हुए डिजीकैश के माध्यम से एक करेंसी लांच की। जिस करेंसी को कोई भी व्यक्ति अपने हाथ में नहीं पकड़ सकता बल्कि वह एक डिजिटल करेंसी थी। उसे ऑनलाइन किसी को भेजा जा सकता था या फिर उसे ऑनलाइन ही किसी सामान की खरीद बिक्री की जा सकती थी आप उसे हाथ से किसी के हाथ में नहीं दे सकते थे। 

उस समय क्रिप्टो करेंसी आई लेकिन चल नहीं पाई। उसके बाद फिर 2006-8 के बीच में एक क्रिप्टो करेंसी आई जिसका बिटकॉइन था। बिटकॉइन अचानक से क्रिप्टो मार्केट में अपना पैर रखा और वह अपने पैर को पसारता चला गया आज वह बहुत आगे निकल चुका है और लोग इसमें अपने पैसे बहुत ज्यादा मात्रा में इनवेस्ट कर रहे हैं। आजकल कई क्रिप्टो करेंसी आ गई है लेकिन सबसे पुराना क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन ही है। 

Cryptocurrency Kab Kharidna Chahiye – कैसे आप क्रीपटों से ज्यादा काम सकते हो

बिटकॉइन, इथेरियम गिरे, लेकिन 1 कॉइन में 1200% से ज्यादा का उछाल

निष्कर्ष 

अगर आपको इस आर्टिकल में हमारे द्वारा दी गई cryptocurrency ka history के बारे में जानकारी अच्छी लगी तो आप इसे अपने मित्रों के साथ साथ इसे अपने सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं।

Latest Posts

Don't Miss